Joint Pain Ka Treatment

0
Joint Pain Ka Treatment
Joint Pain Ka Treatment

Joint Pain Ka Treatment दोस्तों, आज जोड़ों का दर्द यानि ज्वाइंट पेन एक ऐसा रोग बन गया है जो महिला पुरूष दोनों को बराबर परेशान कर रहा है । इसके होने की न तो कोई उम्र है, न ही कोई वक्त । आज जोड़ों में दर्द होना हर दूसरे व्यक्ति की कहानी है ।

ऐसे में लोग डॉक्टर के पास जाकर और दवाईयाँ खाकर परेशान हो चुके हैं ।

लेकिन लोग आयुर्वेद की तरफ नहीं देखते जबकि इसका संपूर्ण इलाज केवल आयुर्वेद के पास है । इस लेख में हम आपको जोड़ों के दर्द के कारण, लक्षण, इसका इलाज और एक स्वस्थ जीवनशैली के लिए कुछ बातें बता रहे हैं ।

जोड़ों में दर्द के क्या हैं कारण ? Joint Pain Ka Treatment

  • मोटापा
  • मांसपेशियों का कमज़ोर हो जाना
  • ज़्यादा एक्सरसाइज या कसरत
  • बुढ़ापा
  • चोट या कोई इंजरी
  • कुछ स्वास्थ्य संबंधी बाधाएं, जैसे  – अर्थराइटिस आदि ।

(jodo) जोड़ों में दर्द के लक्षण क्या हैं ?

  • जोड़ों में अकड़न आना
  • जोड़ों में सूजन आना
  • जोड़ों में कोमलता आना
  • जोड़ों का लॉक हो जाना
  • हाथ-पैर हिलाने में दर्द होना
  • जोड़ों में कमज़ोरी आना 

Janiye जोड़ों के दर्द में किन आयुर्वेदिक औषधियों का सेवन करना चाहिए ?

निर्गुण्डी तेल 

इस तेल की रोज़ाना मालिश से जोड़ों के दर्द में बहुत राहत मिलती है । ये एक आज़माया और शोध किया हुआ तेल है ।

अजवाइन

अजवाइन को गर्म करके कूट लें और गुनगुने पानी के साथ उसका सेवन करें । इससे घुटनों के दर्द में राहत मिलेगी क्योंकि इसमें एंटी-इंफ्लमेंटरी गुण मौजूद हैं ।

दशमूल

दोस्तों, जैसा कि नाम है दशमूल यानी 10 जड़ी बूटियों का मेल । इसकी सीरप, गोली और पेस्ट आता है जिसे आप सेवन भी कर सकते हैं जोड़ों पर लगा भी सकते हैं ।

शतावरी 

शतावरी अक्सर शरीर को मज़बूती और ऊर्जा देने के लिए प्रयोग में लाया जाता है और इसीलिए ये मांसपेशियों को ताकत भी देता है । इसलिए शतावरी का सेवन रात को सोने से पहले ज़रूर करें ।

अश्वगंधा 

अश्वगंधा जोड़ों को न सिर्फ मज़बूत बनाता है बल्कि शरीर को भी एक्टिव करता है जिससे जोड़ों की समस्या पैदा ही नहीं होती और अगर किसी को ये समस्या है तो शुरुआत से ही अश्वगंधा का सेवन करें, तो जोड़ों का दर्द पूरी तरह ठीक हो जाएगा । 

जोड़ों के दर्द से राहत के लिए जीवनशैली में बदलाव लाएँ – 

  • मूंग दाल खाएँ और दूध अवश्य पीएँ
  • सब्जियों में हरी सब्जियाँ विशेषकर परवल खाएँ ।
  • हमेशा गुनगुने पानी से नहाएं
  • जोड़ों की हल्की मालिश करें 
  • जोड़ों में ठंड न लगने दें 
  • नींद पूरी लें

क्या नहीं करना है ? Joint Pain Ka Treatment

  • बहुत ज़्यादा मात्रा में दाल न खाएं
  • व्रत या उपवास न रखें
  • बहुत अधिक शरीर को थकाने वाला काम न करें
  • दही, छाछा, काली उड़द के सेवन से परहेज़ करें ।

इसके अलावा क्या करें ?

  • अपना वजन न बढ़ने दें 
  • जहाँ सूजन या दर्द हो रहा है, वहाँ आइस पैक से सिकाई करें 
  • गरम पैड से जोड़ों के दर्द वाली जगह पर सिकाई करें ।
  • योगा ज़रूर करें, जैसे – वीरभ्रदासन, धनुरासन, सेतु बंधासन और त्रिकोणासन ।

आपको ये जानकारी कैसी लगी, हमें कमेंट करके बताइए, ताकि हम विषयों को और बेहतर तरीके से आपके बीच लेकर आएं ।

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें