Sir Dard Ka Ilaj

2
Sir Dard Ka Ilaj
Sir Dard Ka Ilaj

Sir Dard Ka Ilaj सिरदर्द के लिए गारंटी इलाज दोस्तों, सिर में दर्द होना एक आम बात है और यह सबको होता है, इसमें उम्र की कोई सीमा नहीं है पर हमारे लिए ये जानना बहुत ज़रूरी है कि हमें सिरदर्द हो क्यों रहा है, इसका कारण क्या हैं क्योंकि सिर में दर्द होने के कईं कारण हो सकते हैं और अगर ये गंभीर है तो इसका इलाज बाद में मुश्किल हो जाता है ।

तो आइए जानते हैं कि सिरदर्द होने के लक्षण, कारण और इसका गारंटी आयुर्वेदिक इलाज क्या है क्योंकि ये जाने बगैर कि सिरदर्द हो क्यों रहा है उसका इलाज करना संभव नहीं है इसलिए इस लेख में लक्षण के हिसाब से ही आयुर्वेदिक उपचार सुझाए गए हैं ।

Sir Dard Ka Ilaj क्या हैं सिरदर्द होने के कारण ?

  • साइनस की समस्या
  • माइग्रेन सिरदर्द
  • तनाव और टेंशन
  • देर रात तक जागे रहना
  • पेट में गैस, अपच
  • आंखों का कमज़ोर होना
  • बेकार जीवनशैली

सिरदर्द के लक्षण क्या हैं ?

  • चेहरे पर दर्द बना रहता है
  • सिर के एक तरफ दर्द महसूस होना
  • सिर के चारों और दर्द महसूस होना
  • सिर में भारीपन महसूस होना
  • सिर का भटकना
  • सिर और आंख की एक तरफ दर्द बने रहना या रात में सिर में दर्द हो जाना

दोस्तों, सिरदर्द को लोग अक्सर हल्के में लेते हैं और इस मामले में गंभीरता नहीं दिखाते और इसलिए वो सारी ज़िंदगी इसके शिकार रहते हैं । रोग बढ़ते-बढ़ते इतना बढ़ जाता है कि 40 की उम्र के बाद सिरदर्द रोज़ाना की दिक्कत बन जाती है क्योंकि शरीर उस रोग का आदि हो चुका है इसलिए ये बहुत ज़रूरी है कि समय रहते इसका जड़ से इलाज कर दिया जाए ताकि जीवन में ये कभी भी बेवजह लौटकर न आए ।

क्या है सिरदर्द का आयुर्वेदिक इलाज ?

दोस्तों, इस लेख में सिरदर्द को ठीक करने के सटीक आयुर्वेदिक नुस्खे और तरीके बताए जा रहें हैं, अगर आप इन्हें फॉलो करेंगे तो सिरदर्द से हमेशा के लिए छुटकारा पा लेंगे ।

1. पुदीना उपयोग करें – सिरदर्द होने के प्रमुख कारणों में साइनस, तनाव, सर्दी-जुकाम और गैस और अपच शामिल है और पुदीना इन सबको काटने में माहिर है । आपको रोज़ सुबह उठकर पुदीने की चाय बनाकर पीएं, पुदीने के अर्क या फिर तेल से सिर पर मालिश करें । इसके अलावा आपको पुदीने की पत्तियों को पीसकर उसका लेप माथे पर लगाना है, आपको तुरंत असर दिखेगा ।

2. तुलसी – दोस्तों, अगर सिर में होने वाले दर्द की वजह गैस, अपच, एसिडिटी, सर्दी-जुकाम और तनाव है तो सुबह खाली पेट तुलसी की 3 से 4 पत्तों को चबाएं, चाय में तुलसी के पत्ते डालकर पीयें और दिन में एक बार तुलसी के पत्तों का काढ़ा बनाकर पीएँ, आपको तुरंत आराम मिलेगा ।

3. पिप्पली – अगर सिर दर्द लगातार बना हुआ है तो आप पिप्पली का सेवन कर सकते हैं । अगर आपका पेट साफ नहीं होता, दिनभर गैस चढ़ी रहती है तो पिप्पली का सेवन करें । गुनगुने पानी के साथ पिप्पली पाउडर लें, सिर दर्द छूमंतर हो जाएगा ।

4. गिलोय – दोस्तो, औषधियों में गिलोय को सबसे उत्तम माना गया है और वो इसलिए कि शरीर में कितना भी गंभीर रोग हो, गिलोय हर रोग को काटने की क्षमता रखता है । इसमें ऐसे चमत्कारी गुण हैं जो रोग को जड़ से खत्म करते हैं । आप रोज़ सुबह गिलोय की डंडी को पीसकर पानी के साथ उसका जूस पिएं, आपके शरीर के सारे रोग सिर दर्द के साथ गायब हो जाएंगे ।

5. त्रिफला – अगर आपकी आंखें कमज़ोर हो गई हैं या फिर आपका पेट साफ नहीं रहता तो त्रिफला रामबाण हैं । ये आंखें तेज़ और पेट साफ करने की बहुत पुरानी और सफल औषधि है । आज बाज़ार में इसका चूर्ण, साबूत या पेस्ट, तीनों ही उपलब्ध होते हैं । आप इसे गुनगुने दूध या पानी के साथ ले सकते हैं । सिरदर्द से हमेशा के लिए राहत मिल जाएगी ।

6. योग आसन – दोस्तों, योग में कुछ आसन हैं जो सिरदर्द की नौबत आने ही नहीं देते और अगर सिरदर्द सता रहा है तो इन्हें करने के 5 मिनट के भीतर सिरदर्द गायब हो जाएगा ।

ये आसन हैं –

  • कपालभाति
  • अनुलोम-विलोम
  • भस्त्रिका
  • मुण्डक आसन

इन आसनों को प्रतिदिन सुबह और शाम खालीपेट करेंगे तो सिरदर्द कभी आपको छू पी नहीं सकता ।

इन बातों का ध्यान रखें –

  • अगर सिरदर्द है तो मसालेदार भोजन न करें
  • तनाव या टेंशन न लें 
  • रोज़ाना दौड़ लगाएं, हल्की एक्सरसाइज करें
  • फाइबर युक्त भोजन करें
  • आंखों की जांच अवश्य कराएँ

दोस्तों, आपको ये लेख कैसा लगा, कमेंट करके अवश्य बताएँ ताकि हम और विषयों पर भी लेख लेकर आएं ।

2 COMMENTS

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here