Sugar Door karne ka Auyrvedic Nuskha

1
Sugar Door karne ka Auyrvedic Nuskha
Sugar Door karne ka Auyrvedic Nuskha

Sugar Door karne ka Auyrvedic Nuskha शुगर दूर करने के घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे शुगर दूर करने के घरेलू आयुर्वेदिक नुस्खे दोस्तों, शुगर कहो या डायबिटीज, आज इस बीमारी ने पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है । आज हर तीसरा व्यक्ति कहीं न कहीं शुगर रोगी होने की कगार पर है और अगर एक बार शुगर हो गई तो फिर ज़िंदगी भर परहेज़ और दवाओं के सहारे ही जीना पड़ता है । एलोपैथी हो या होम्योपैथी, इसका इलाज संभव नहीं है और इसे नियंत्रित करने में भी कईं बार ये विद्या फेल हो जाती है.

लेकिन आयुर्वेद उपचार अकेली ऐसी विद्या है जो शुगर रोगी न सिर्फ खुलकर जीने का मौका देती है बल्कि पहले की तरह फिट करने में काफी हद तक कारगर साबित हुई है । शुगर इंसुलिन हार्मोन के ठीक काम न करने की वजह से होता है । तनाव और बेकार जीवनशैली इसको और बढ़ाते हैं । इस लेख में हम आपको शुगर नियंत्रित और ठीक करने के आयुर्वेदिक नुस्खे बता रहे हैं जिन्हें आप डॉक्टर के परामर्श से घर पर ही कर सकते हैं ।

Sugar Door karne ka Auyrvedic Nuskha क्या होते हैं शुगर होने के कारण ?

कसरत न करना – मानसिक तनाव या टेंशन लेना- मोटापा- मीठे और तले भोजन का बहुत अधिक सेवन करना- पीढ़ीगत समस्या (जेनेटिक)

शुगर को कैसे पहचानें, क्या हैं शुगर के लक्षण ?

बार-बार पेशाब आना- आंखों में धुंधलापन- लंबे समय तक थकान या कमज़ोरी महसूस होना- पैरों का सुन्न हो जाना – भूख और प्यास ज़्यादा लगना- वजन कम हो जाना – चोट लगने पर घाव देर से भरना

इन सभी लक्षणों पर ध्यान दीजिए और अगर आपको लगता है कि ये लक्षण महसूस हो रहे हैं तो फौरन डॉक्टर को दिखाएँ ।

क्या है आयुर्वेदिक घरेलू उपचार ?

सबसे पहले आप किसी अच्छे डॉक्टर को दिखाएं और अपना शुगर टेस्ट करवा लें । अगर आप बाहर नहीं जा रहे तो आजकल ऑनलाइन सुविधा से शुगर टेस्ट घर पर ही हो जाता है

इसके अलावा कुछ तरीके हैं –

1. तुलसी – तुलसी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं और ये एंटीबैक्टीरियल भी होती है । इसमें मेथिल, कैरीयोफेलिन और इजिनॉल होता है और ये सारे तत्व इंसुलिन और उसकी प्रक्रिया को एक्टिव और मज़बूत करता है । इसके अलावा तुलसी तनाव दूर करती है क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट तत्व भी मौजूद है, इसलिए लोग तुलसी वाली चाय को दवा ही मानते हैं । आपको सुबह फ्रैश होकर रोज़ खाली पेट तुलसी के 3 से 4 पत्ते चबाने हैं, ये आपको शुगर में बहुत मदद करेगा ।
2. करेला – कैरेटिन होने की वजह से करेला एक नेचुरल स्टेरॉयड है, जो शुगर लेवल को कभी बढ़ने ही नहीं देता या आप ऐसा कर सकते हैं कि खाली पेट रोज़ 100 मिलीलीटर करेले के रस में उतना ही मात्रा में पानी मिलाकर पी सकते हैं ।
3. मेथी – रोज़ रात को मेथी के दानों को थोड़े से पानी में भिगोकर रख दो और सुबह वही पानी हल्का हल्का पीएँ और बचे हुए मेथी के दानों को अच्छी तरह चबाएं । इससे शुगर रोगियों को बहुत मदद मिलती है ।
4. योगा – दोस्तों, योग वो वरदान है जो बड़े से बड़े रोग को जड़ से खत्म कर देता है । अगर आप शुगर के रोगी हैं तो रोज़ सुबह कम से कम आधा घंटा योग करें । कुछ आसन हैं जो आपको शुगर में कुछ ही दिनों में चमत्कारी नतीजे देंगे । आपको सुबह प्राणायाम, कपालभाति, अनुलोम-विलोम और मंडूकासन करना है । ये करना बहुत आसान है, अगर आपको देखना कि कैसे करें तो आप यूट्यूब में जाकर देख सकते हैं ।
5. सुबह ज़रूर टहलें – याद रखिए कि सुबह की सैर शुगर रोगियों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है । सुबह की सैर उनके स्वास्थ्य में गज़ब का फर्क कर सकती हैं । आप जब सुबह घूमने जाएँ तो थोड़ा दौड़ लगाएँ, थोड़ा पैरों के तलवों को पत्थर से चुबाएँ और फिर थोड़ा हरी घास पर चलें । ये आपको चमत्कारी नतीजे देंगे ।
6. त्रिफला करेगा बेड़ा पार – दोस्तों, शुगर रोगी के लिए त्रिफला रामबाण उपचार है । ये एक औषधी की तरह शुगर रोगी के शरीर में काम करता है । ये पेनक्रियाज़ को एक्टिव करके इंसुलिन को मज़बूत बना देता है और शुगर को पूरी तरह नियंत्रित कर देता है ।
आयुर्वेद शुगर रोगियों के लिए ही नहीं बल्कि हर प्रकार के रोगी के लिए एक ऐसा उपचार है जो सिर्फ लाभ देता है, नुकसान तो है ही नहीं । तो आप भी बताई गई जानकारी को अपने जीवन में उतारें और अपनी शुगर को पूरी तरह नियंत्रित करें और इसकी पूरी तरह ठीक होने की संभावना भी है ।

यह भी पढ़े :- Kaise Badhaye Mardana Takat

1 टिप्पणी

कोई जवाब दें

कृपया अपनी टिप्पणी दर्ज करें!
कृपया अपना नाम यहाँ दर्ज करें