x hindi sex stories अधूरी प्यास(Adhooree pyaas) part 2

गाँव के पहलवान परिवार से ताल्लुक रखने के कारण विवेक का शरीर सुडोल और कसा हुआ था । विवेक के अंदर वह बात थी जो शहरों के लड़कों में नहीं होती । रंग गोरा, शरीर सुडोल और कसा हुआ, भूरी आँखें और लंबा-चौड़ा कद । सिर्फ श्रेया ही नहीं, विवेक अंदर ही अंदर ऑफिस की दूसरी लड़कियों का क्रश भी बन चुका था लेकिन लड़की होने से श्रेया को यह बात पता चल गई और उसे यह बात बहुत खटकती थी । अब वह चाहती थी कि इससे पहले कि कोई दूसरी लड़की उसपर अपना जादू चलाए, वह विवेक को काबू कर ले ।

विवेक को कंपनी की तरफ से कहा गया कि आप दो हफ्तों के ट्रेनिंग पीरियड पर रखे जाओगे और इस दौरान आप किसी से कुछ भी पूछ सकते हैं क्योंकि दो हफ्ते के बाद आप नौकरी ज्वाइन करेंगे ।

श्रेया ने यही मौका दबोच लिया । उसे विवेक को मैसेज छोड़ा कि – मुझे ऑफिस के बाहर आकर मिलो, तुम्हारे साथ ऑफिस की ज़रुरी फाइल शेयर करनी है जो तुम्हारे लिए बहुत ज़रुरी है ।

विवेक ने वक्त पूछा तो श्रेया ने बताया कि शाम को ऑफिस खत्म होने के बाद उसे इसी नंबर पर कॉल करना है । ऑफिस पूरा हुआ और विवेक ने श्रेया को फोन मिलाया,

श्रेया ने कहा कि सामने जो सफेद हौंडा सीटी गाड़ी दिख रही है, उसमें आकर बैठ जाओ । जैसे ही विवेक गाड़ी के पास गया उसने देखा कि ड्राइविंग सीट पर एक लड़की बैठी है और वह अंदर आ गया ।

विवेक-हैलो श्रेया मैम ।

श्रेया – अरे ये मैम-वैम क्या होता है, जस्ट कॉल मी – श्रेया

विवेक – ओके । अब बताइए कौन सी ज़रुरी फाइल है जो मुझे देखनी है ।

श्रेया – अरे…रुको..रुको ऐसी बातें कहीं आराम से बैठकर होती हैं न कि यूं ही ।

विवेक – तो कहीं चलना है क्या ?

श्रेया – क्यों मेरे साथ नहीं नहीं जा सकते ?

विवेक – नहीं, ऐसी बात नहीं है, पर आज अपनी गलफ्रैंड को मिलने का समय दिया हुआ है ।

श्रेया – क्या बात है, आप तो छुपे रुस्तम निकले ।

विवेक – ये आप मुझे कहाँ ले आयी हैं ?

श्रेया – यहाँ का फेमस बार है, आज हो जाए ।

विवेक – मैं शराब कभी-कभी पीता हूँ और वह भी एक गिलास ।

श्रेया – अरे..जिंदगी को जितना हो सके इन्जॉय करना चाहिए, कल किसने देखा है ।

विवेक दरअसल समझ ही नहीं पा रहा था कि वह किस दलदल में धंसने वाला है । एक के बाद एक 6 ड्रींक पीलाने के बाद श्रेया पहचान गई कि अब विवेक होश में नहीं है ।

श्रेया – चलो चलते हैं
विवेक – हाँ मुझे ज्यादा चड़ गई है ।

श्रेया-समझ गई कि विवेक अब पूरी तरह से उसके काबू में है और आज उसकी हवस को पूरा होने से कोई नहीं रोक सकता ।

श्रेया- ने पहले ही बार के मैनेजर से बात करके अपने लिए वहीं रुम बुक करवा लिया था और वह सीधे विवेक को रुम में ले गई ।

श्रेया -विवेक कुर्सी पर बैठा और श्रेया बाथरुम चली गई ।

विवेक का सिर घुम रहा था लेकिन वह अंदर से बहुत मज़बूत था इसलिए उसने खुद को संभाला हुआ था ।

बाथरुम का दरवाज़ा खुलता है और विवेक की नज़र जब दरवाज़े की तरफ पड़ती है तो उसका दिमाग घुम जाता है ।

श्रेया ने सिर्फ ब्रा और पेंटी पहनी हुई थी और वह विवेक की तरफ बढ़ने लगी ।

श्रेया – विवेक मुझे तुम बहुत पंसद हो ।

ऐसे हालात में विवेक कुछ सोच या समझ नहीं पा रहा था । श्रेया ने उसकी पेंट खोलनी शुरु की और कहा –

श्रेया – मैं तुम्हारा लंड चुसने के लिए पिछले दो महिनों से कोशिश कर रही हूं और आज मैं जी भर के लंड चुसूंगी ।

इतना कहते ही श्रेया विवेक के लंड को जीब से चाटने लगी और फिर धीरे-धीरे ब्लोजॉब देने लगी । विवेक भी पूरी तरह श्रेया की हवस के काबू में आ चुका था । विवेक ने श्रेया के बाल पकड़े और ज़ोर-ज़ोर से लंड चुसवाने लगा ।

विवेक ने अपने कपड़े खोल दिए और श्रेया को अपने ऊपर बिठा दिया और उसे चूमने लगा । इसके बात उसके अंदर वासना जाग गई और उसने ब्रा खोले बगैर श्रेया की ब्रा खींच कर नीचे कर दी और उसके चूचों को चूसने लगा ।

x hindi sex stories अधूरी प्यास(Adhooree pyaas) part 2

श्रेया को ऐसा मज़ा पहले कभी महसूस नहीं हो रहा था क्योंकि विवेक ने उसे पूरी तरह जकड़ लिया था और अब वह चूचों को चूसते हुए उसकी ब्रा का हुक खोलने लगा । ब्रा खोलकर अब उसने श्रेया को उठा लिया और बिस्पर पर लेटा दिया । अब विवेक धीरे-धीरे श्रेया की पेंटी को बाहर से चाटने लगा । श्रेया तो मानों पागल सी हो गई थी । x hindi sex stories

श्रेया – आ…..आ….विवेक और ज़ोर से चाटो, खा जाओ मुझे ।

विवेक – आज तुझे वो झटके दूंगा जो तुने कभी नहीं खाए होंगे ।

इतना कहकर विवेक ने श्रेया की पेंटी खोल दी और उसकी चुत में उंगली करने लगा ।

श्रेया – आ……श्रेया ज़ोर से चीख रही है… आ…..दर्द हो रहा है थोड़ा आराम से करो ।

विवेक – मैं आराम में नहीं जंगली में विश्वास रखता हूं , अब मैं तुझे नहीं छोड़ सकता ।

श्रेया – मत छोड़ो मुझे…इतना चोदो कि आज के बाद कभी तुम्हें भूल न पाऊँ ।

विवेक श्रेया को किचन में ले गया और शेल्फ पर बिठा दिया ।

विवेक – टांग उठा

x hindi sex stories

श्रेया ने अपनी टांग जैसे ही उठाई, विवेक ने अपना लंड श्रेया की चुत में डाल दिया और ज़ोर-ज़ोर से चोदने लगा ।

श्रेया ऐसे चीख रही है मानों जैसे पहली बार सैक्स कर रही हो लेकिन श्रेया आज पूरे मूड में थी ।

उसने विवेक के कंधों को अपने दोनों हाथों से पकड़ लिया और खुद आगे-पीछे होने लगी ।

श्रेया – और ज़ोर से चोदो मुझे…..और ज़ोर से …..आ….आ…..आ……..

विवेक भी रुकने वालों में से नहीं था ।

विवेक ने श्रेया को घोड़ी बनाया और घोड़ी बनाकर पीछे से चोदने लगा ।

पीछे से चोदते हुए विवेक और ज़ोर से श्रेया को चोदने लगा…श्रेया की चुत पूरी तरह गीली हो गई थी ।

अब विवेक उसे बिस्तर पर ले आया और अब उसकी टांग को उठा दिया और चोदने लगा ।

विवेक ने श्रेया को पूरे 5 मिनट तक लगातार चोदा ।

श्रेया की चुत पानी-पानी हो गई और अब विवेक श्रेया की चुत चाटना चाहता था ।

विवेक – तेरी चुत लाल हो गई है और पूरी गीली ।

श्रेया – जल्दी चाट लो विवेक, इससे पहले की सारा पानी निकल जाए ।

मैं तुम्हें ये पानी पिलाना चाहती हूं ।

विवेक – हाँ क्यों नहीं । विवेक श्रेया की चूत चाटने लगा तभी चुत के अंदर से पानी आने लगा और विवेक उसे चाटने लगा ।

श्रेया को ऐसा लग रहा था मानों वह जन्नत में है । आज श्रेया को उस लड़के ने चोदा जिससे वह खुद चुदना चाहती थी । श्रेया की चुत से पानी रुकने का नाम नहीं ले रहा था ।

विवेक ने अपना लंड श्रेया के चूचों के बीच में दे दिया और वह उसे रगड़ने लगा ।

श्रेया – और तेज़…और तेज़ रगड़ो ।

विवेक – आ….आ……मज़ा आ रहा है श्रेया

श्रेया – बहुत…..आ….

अब विवेक के लंड से पानी निकलकर सीधा श्रेया के मुंह में लगा ।

उसके बाद दोनों इतना थक गए कि वहीं सो गए ।

कुछ घंटों के बाद जब विवेक को होश आया तो उसके होश उड़ गए । वह खुद को कोस रहा था तभी श्रेया उठी और उसने विवेक को समझाया कि यह सब आम बात है । तुम एक लड़के हो और तुम्हें लड़की की ज़रुरत है और मैं एक लड़की हूं, मुझे एक लड़के की ज़रुरत है और तुम तो बहुत खास हो ।

x hindi sex stories

हमारे बीच जो भी हुआ, उसे भूल जाओ और पहले की तरह खुश रहो ।

ऐसा कहकर श्रेया विवेक को बाथरुम में ले गई और दोनों ने मिलकर शावर लिया और श्रेया ने विवेक का एक बार फिर लंड चूस लिया । श्रेया की यह हवस उसे कहाँ ले जाती है यह देखेंगे हम अधूरी प्यास के अगले एपिसोड में ……

Part 1: HINDI SEX STORY अधूरी प्यास(Adhooree pyaas)

x hindi sex stories